झारखंड में 31 अगस्त तक बढ़ा लाॅकडाउन

0
22
झारखंड में 31 अगस्त तक बढ़ा लाॅकडाउन
रांची , 30 जुलाई । झारखंड सरकार ने वर्तमान परिपेक्ष में कोरोन के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए एक बार फिर प्रदेश में लॉकडाउन को 01 अगस्त से 31 अगस्त, 2020 तक बढ़ाने का निर्णय लिया है।  इस दौरान अनलॉक-3 में कोई बदलाव नहीं किया गया है। कंटेनमेंट जोन को छोड़ अन्य क्षेत्रों में पहले की तरह छूट जारी रहेगी। लेकिन मास्‍क और सोशल डिस्‍टेंसिंग को जरूरी कर दिया गया है।
पिछले दिनों संपन्न हुई कैबिनेट की बैठक में परिस्थितियों को देखते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को लॉकडाउन पर अंतिम फैसला लेने के लिए अधिकृत किया गया था। इसी के आधार पर गुरुवार को राज्य में अनलॉक-3 की अवधि बढ़ाने की बात कही गयी। कोरोना संक्रमण की बढ़ती संख्या को देख राज्य सरकार ने मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने संबंधी नियमों पर जोर दे रही है। बिना मास्क लगाये घर से बाहर निकलने पर सख्ती बरती जायेगी। अनलॉक-3 में शैक्षणिक संस्थान, मॉल, हॉल, धार्मिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक या मनोरंजन से जुड़े आयोजनों पर रोक जारी रहेगी।
इस बच मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि केंद्र सरकार के गाइडलाइन को देखते हुए राज्य सरकार यथावत स्थिति बनाये रखने के लिए आगामी 31 अगस्त, 2020 तक लॉकडाउन को बढ़ाने का निर्णय लिया है।  उन्होंने कहा कि अगर इस बीच राज्य में कोरोना संक्रमण को लेकर कोई उतार-चढ़ाव आता है तो राज्यव्यापी प्रयोग करने की तैयार में राज्य सरकार जुटी है। इस प्रयोग के तहत आये रिपोर्ट के आधार पर राज्य सरकार  निर्णय लेगी।
उन्होंने कहा कि सरकार सभी गतिविधियों पर नजर बनाये हुए है। सरकार अधिक से अधिक टेस्ट करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। संबंधित विभाग इस दिशा में काफी तेजी से कार्य कर रही है। राज्य सरकार आकलन के आधार पर एक फार्मूला तैयार की है। उसके अनुरूप कोरोना की हर गतिविधियों की रिपोर्ट आने के बाद राज्य सरकार समुचित निर्णय लेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में टेस्टिंग में विशेष जोर दिया जा रहा है। बुधवार को पलामू प्रमंडल में नये टेस्टिंग प्रयोगशाला का उद्घाटन हुआ है। जल्द ही संथाल परगना में भी टेस्टिंग प्रयोगशाला का उद्घाटन राज्य सरकार करेगी। इसके अलावा कोरोना मरीजो के  लिए त्वरित कार्यवायी करते हुए 4000 बेड की व्यवस्था की है। ताकि सभी मरीजों को समय पर इलाज मिल सके और न जान बचायी जा सके।
आगामी 31 अगस्त तक कायम लाॅकडाउन के दरम्यान झारखंड में बसों का परिचालन शुरू नहीं किया जायेगा। धार्मिक और राजनीतिक गतिविधियों की भी अनुमति नहीं दी जायेगी।  दूसरी तरफ ब्यूटी पार्लर, सैलून आदि को खोलने की अनुमति दी गयी है। । कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए सरकार सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करेगी। इसमें कहा गया है कि 31 अगस्त, 2020 तक सभी कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन जारी रहेगा। केन्द्र के दिशा-निर्देशों को सख्ती से लागू किया जायेगा। रात के दौरान लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध :नाइट कर्फ्यू: हटा दिया गया है। हालांकि झारखंड में अब तक नाइट कर्फ्यू खत्म करने को लेकर राज्य सरकार की ओर से कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है।
इस दौरान सामाजिक, धार्मिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक या मनोरंजन से जुड़े आयोजनों पर रोक जारी रहेगी। जबकि  स्वतंत्रता दिवस समारोह को सोशल डिस्टेंसिंग और दूसरे हेल्थ प्रोटोकॉल्स ;जैसे मास्क पहनना के साथ इजाजत दी गयी है। कंटेनमेंट जोन में 31 अगस्त तक लॉकडाउन सख्ती से जारी रहेगा। इन क्षेत्रों में सिर्फ जरूरी गतिविधियों को ही इजाजत रहेगी। गृह मंत्रालय की गाइडलाइन के हिसाब से कंटेनमेंट जोन का फैसला डिस्ट्रिक्ट अथॉरिटीज करेंगी। हालांकि सरकार चाहती है कि आर्थिक गतिविधियां बंद न हों। उद्योग-धंधों पर  ब्रेक न लगे।
उधर अन्य राज्यों से आने वाले लोगों के लिए रजिस्ट्रेशन अनिवार्य कर दिया गया है। साथ ही ऐसे लोगों को 14 दिन के होम कोरेंटिन में रहने की शर्त लगा दी गयी है। ताजा लॉकडाउन के दौरान शॉपिंग मॉल आदि को खोलने की अनुमति दी जायेगी या नहीं इसके बारे में कोई संकेत सरकार की ओर से नहीं मिले हैं।
एक बार फिर राज्यवासी को 31 अगस्त तक अपने अपने घरों में रहना होगा । इसके साथ ही उन्हें बाहर निकलने से पहले सरकार के गाईडलाइन का अक्षरसः पालन भी करना होगा । सरकार फिलहाल किसी प्रकार का रिस्क लेने को तैयार नहीं है। हांलांकि लाॅकडाउन की अवधि विस्तार देने वाले राज्यों में झारखंड अकेला नहीं देश कई राज्यों ने भी मौजूदा स्थिति की नजाकत को देखते हुए लाॅकडाउन की अवधि को बढ़ाया है।

कोई जवाब दें