गोरखपुर किडनेपिंग केस में अगवा बच्चे की हत्या, 1 करोड़ मांगी थी फिरौती

0
22
गोरखपुर किडनेपिंग केस में अगवा बच्चे की हत्या, 1 करोड़ मांगी थी फिरौती
गोरखपुर एजेंसी , 27 जुलाई। 
गोरखपुर में बदमाशों ने अगवा किए गए बच्चे की हत्या कर दी है। 13 साल के बच्चे का शव उसके गांव सें चंद किलोमीटर दूर मिला है। बच्चे का अपहरण करने के बाद एक करोड़ रुपये की फिरौती मांगी गई थी। इससे पहले कानपुर और गोंडा में भी बच्चे को किडनैप करके फिरौती मांगने का मामला सामने आया था। घटना पिपराइच थाना इलाके की है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी सरकार पर मामले को लेकर हमला बोला है।
13 वर्षीय बच्चे (बलराम गुप्ता ) को पुलिस ने घर से कुछ दूर स्थित खेत से बच्चे के शव को बरामद किया है। गांव से 5 किलोमीटर दूर केवटहिया में बच्चे की लाश बरामद हुई है। रविवार को पिपराइच के मिश्रोलिया टोला से बच्चे का अपहरण हुआ था। फिरौती में अपहरणकर्ता ने 1 करोड़ रुपये की मांग की थी। वारदात की जांच के लिए क्राइम ब्रांच, एसटीएफ और पुलिस की टीम लगाई गई थी। आज घर से कुछ दूर स्थित खेत के पास बच्चे का शव बरामद हुआ है। जिसके बाद पुलिस शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।
इस मामले में सियासी घमासान भी तेज हो गया है। यूपी के पूर्व सीएम और एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘गोरखपुर से अपहृत बच्चे की हत्या का समाचार बेहद दर्दनाक व दुखद है। शोकाकुल परिवार के प्रति गहरी संवेदना। लगातार अपहरण और हत्याओं के बावजूद भी भाजपा सरकार का निर्लज्ज मौन और निष्क्रियता प्रश्नचिन्ह के घेरे में है।’
उधर प्रियंका गांधी ने भी योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा, ‘क्या यूपी के मुखिया ने खबरें देखना छोड़ दिया है? क्या गृह विभाग में बैठे लोगों के सामने ये खबरें नहीं जाती? यूपी में हर दिन गुंडाराज के नए रिकॉर्ड बन रहे हैं। सीएम के गृहक्षेत्र में अपहरण की घटना घटी है। कासगंज में हत्याकांड। लेकिन दिखावे के लिए कुछ ट्रांसफर के अलावा..।’

इस बीच पुलिस ने इस मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से थाने में पूछताछ की जा रही है। बताया जा रहा है कि रविवार शाम 5 बजे ही आरोपियों ने बच्चे की हत्या कर दी थी। बच्चे का शव मिलने के बाद परिवार में मातम छाया हुआ है। वहीं इलाके में दहशत का माहौल है। जंगल छत्रधारी मिश्रोलिया टोला निवासी एक जनरल स्टोर संचालक और प्रॉपर्टी डीलर का बेटा घर के बाहर से लापता हो गया था। रविवार दोपहर 12 बजे खाना खाकर वह घर से खेलने के लिए निकला था। उसके बाद से वह घर नहीं लौटा।

रविवार शाम को लगभग 4 बजे कारोबारी के मोबाइल पर फोन आया की तुम्हारे बेटे को किडनैप कर लिया गया है। एक करोड़ रूपये का इंतज़ाम कर शाम 5 बजे तक बताओ। कारोबारी ने जब फोन मिलाया तो फोन स्विच ऑफ था। वह लगातार फोन मिलाते रहे, लेकिन फोन बंद मिला। कुछ देर बाद उसी नंबर से उनके पास फिर फोन आया।
कारोबारी ने इसकी सूचना 112 डायल कर पुलिस को इसकी सूचना दी, जिसके बाद पुलिस एसटीएफ, क्राइम ब्रांच और पुलिस की टीम ऐक्टिव हो गईं। एक करोड़ की फिरौती के लिए बच्चे के अपहरण से इलाके में हड़कंप मच गया। कारोबारी की पांच बेटियों में बलराम इकलौता बेटा था। कारोबारी ने बताया कि करीब एक वर्ष पहले भी अपने रिश्तेदार के घर से गायब हो गया था, उस समय चार-पांच दिन बाद वह पुलिस को कुसम्ही जंगल में मिला था।

कोई जवाब दें